प्रवेश प्रक्रिया

  1. १- स्नातक प्रथम वर्ष की कक्षाओ में प्रवेश सर्वथा योमयता के आधार पर होगा ! प्रवेश हेतु इण्टरमीडिएट में सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थियो के लिए न्यूनतम ४० प्रतिशत अंक आवयश्क हैं ! मनको में परिवर्तन का अधिकार प्रसाशनिक समिति के पास सुरक्षित रहेगा !
  2. २- बी ० ए ० प्रथम वर्ष में हिंदी तथा अंग्रेजी भाषा में से एक विषय का चयन अनिवार्य हैं ! इसके अतिरिक्त तीन अन्य विषयो का चयन प्रवेशार्थी द्वारा किया जायेगा !
  3. ३- छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय, कानपुर के निर्देशानुसार बी ० ए ० एवं ० बी ० एस ० सी ० प्रथम वर्ष में पर्यावरण अध्ययन विषय अनिवार्य हैं ! तथा इस विषय़ में उत्तीर्ण होना अवाश्यक हैं !
  4. ४- महाविद्यायलय द्वारा यह प्रयाश किया जायेगा की विद्यार्थियो द्वारा चयनित विषयो को उन्हें आवंटित किया जा सके ! विषय विशेष में सीटो की उपलब्धता एवं विद्यार्थियो को प्राप्त अंको के आधार पर उन्हें विषयो में परिवर्तन करने हेतु प्रवेश समिति द्वारा निर्देशित किया जा सकता हैं !
  5. ५- प्रवेश हेतु साक्षात्कार के समय विद्यार्थियो को आवंटित विषयों से सम्बंधित प्रवेश पर्ची प्रदान की जियेगी ! इस प्रवेश पर्ची एवं फीस रशीद को दिखाने पर ही कक्षा में उपस्थिति रजिस्टर पर विद्यार्थियो का नाम लिखा जायेगा ! विषय पर्ची किसी भी प्रकार की कटिंग का अधिकार विद्यार्थियो को नहीं होगा ! विषय पर्ची एवं फीस रसीद को प्रत्येक विद्यार्थी को सुरक्षित रखना होगा ! महाविद्यालय द्वारा मांगे जानें पर उक्त दोनों अभिलेखो को प्रस्तुत करना होगा!
  6. ६- आवेदन पत्र केवल उन अभ्यर्थियों के स्वकृति किये जायेगे जिन्होंने मान्यता प्राप्त बोर्ड से इण्टरमीडिएट परीक्षा उत्तीर्ण की होगी !
  7. (अ) राज्य स्तर की खेलकूद प्रतियोगिता में भाग लेने पर प्रमाण पत्र विद्यालय द्वारा प्रमाणित होना चाहिए ! ५ अंक
  8. (ब) एन। सी ० सी ० का 'बी ' अथवा 'सी ' प्रमाण पत्र ५ अंक
  9. (स) महाविद्यालय के कर्मचारी की पुत्र / पुत्री अंक
  10. नोट: किसी अभ्यर्थी को उपर्युक्त वरीयताओं के आधार पर १० (दस ) से अधिक वरीयता अंक नहीं दिया जायेगा !

विशेष

  1. १-इण्टरमीडिएट परीक्षा उत्तीर्ण करने के पश्चात !
  2. २- शासन के नियमानुसार अनुसूचित जाती , अनुसूचित जनजाति , पिछड़ा जाती के लिए स्थान सुरक्षित हैं ! इसके अतिरिक्त क्षैतिज प्रकृति के आरक्षण नियमानुसार स्वतंत्रता संग्राम सेनानियो के आश्रितो , शारीरिक रूप से विकलांग , उत्तर प्रदेश के सेवानिवृत अथवा अपंग रक्षा कर्मियों , युद्ध में मारे गये रक्षा कर्मियों के पुत्र एवं पुत्रियों हेतु स्थान स सुरक्षित रहेगा ! उक्त आरक्षरण का लाभ विद्यार्थियों को अपने आरक्षण वर्ग में ही मिलेगी !
  3. ३- विद्यार्थियो के लिए विश्वविद्यालय तथा शासन से निर्धारित कक्षा में उपस्थिति ७५ प्रतिशत अनिवार्य हैं ! अतः कक्षा उपस्थिति कम होने के कारण यदि विश्वविद्यालय द्वारा परीक्षा में बैठने से रोका जा सकता हैं तो इसका उत्तरदायित्व विद्यार्थियो का ही होगा !
  4. ४- अनुशासनहीनता करते पाये गये विद्यार्थियो का प्रवेश निरस्त किया जा सकता हैं !
  5. ५- महाविद्यालय में जिन विद्यार्थियो की गतिविधियां संतोषजनक नहीं रहेगी , उन्हें अगली कक्षा में प्रवेश नहीं दिया जायेगा !
  6. ६- प्रवेश के पश्चात यदि कोई विद्यार्थी किन्ही कारणो से विश्वविद्यालय की परीक्षा में सम्मिलित नहीं होता हैं तो वह पुनः प्रवेश का अधिकारी नहीं होगा !
  7. ७- यदि कोई विद्यार्थी परीक्षा में अनुत्तीर्ण होने के फलस्वरूप पुनः मूल्यांकन हेतु आवेदन करता हैं और उसे समय से यदि उत्तीर्ण घोषित नहीं किया जाता हैं तो उसे अगले सत्र में प्रवेश नहीं मिल सकेगा !
  8. ८- नियमो के विरुद्ध प्रवेश हेतु दबाव डालना पात्रता के प्रतिकूल समझा जायेगा !
  9. ९- इण्टरमीडिएट में व्यक्तिगत रूप से उत्तीर्ण विद्यार्थियो को प्रवेश हेतु अंतिम शिक्षण संस्था का स्थांतरण प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा !
  10. १०- प्राचार्य किसी विद्यार्थी का प्रवेश बिना कारण बतायें निरस्त अथवा अस्वीकार कर सकता हैं
  11. ११- उत्तर प्रदेश राज्य विश्वविद्यालय अधिनियम १९७३ की धारा ६९ के अन्तर्गत किसी न्यायलय को विश्वविद्यालय और प्राचार्य द्वारा प्रवेश सम्बन्धी मामलो में हस्तक्षेप करने का अधिकार नहीं हैं !
  12. १२- महाविद्यालय में रैगिंग करना पूर्णतया प्रतिबन्धित हैं अगर किसी विद्यार्थी की ऐसे किसी कार्य में संलिप्तता पाई जाती हैं तो उसके विरुद्ध रैगिंग अधिनियम की सुसंगत धाराओ के अन्तर्गत कठोरतम कार्यवाही की जायेगी !
  13. १३- चाहे विद्यार्थी ने यथार्थतः शिक्षण प्राप्त किया हो या न किया हो अध्ययन हेतु प्रवेश के समय जमा किया गया शुल्क वापस नहीं होगा !

छात्रवृतियां अथवा शुल्क प्रतिपूर्ति:

  1. १- अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के उन विद्यार्थियो जिनके माता - पिता अथवा अभिभावक की समस्त स्रोतो से वार्षिक आय दो लाख रुपये तक , तथा अन्य पिछड़ा वर्ग तथा आर्थिक रूप से पिछड़े सामान्य वर्ग , एवं अल्प संख्य्क वर्ग के लिए एक लाख रुपये तक हैं उनको
  2. छात्रव्रत्ति एवं फीस की प्रतिपूर्ति शासन से अनुदान उपलब्ध होने पर नियमानुसार दी जायेगी ! विद्यार्थी को जाति प्रमाण पत्र (छाया प्रति ) एवं आय प्रमाण पत्र (मूल्य ) जो छः माह की अवधि से पुराना न हो , छात्रवृत्ति आवेदन पत्र जमा करते समय साथ संलग्न करना अनिवर्य होगा !
  3. २- छात्रवृत्ति या फ़ीस प्रतिपूर्ति सम्बन्धी उपरोक्त नियमो में शासन के निर्देश पर परिवर्तन किया जा सकता हैं !
  4. ३- जिनके माता - पिता अथवा अभिभावक शासकीय या अशासकीय या अशासकीय सेवा में हैं (विभागीय सक्षम अधिकारी ) द्वारा निर्गत आय प्रमाण पत्र ( छः माह से पुराना न हो ) संलंग्न करना होगा !
  5. ४- छात्रवृत्ति / फ़ीस प्रतिपूर्ति आवेदन -पत्र प्रवेश लेने के साथ ही महाविद्यालय में जमा करे !
  6. विलम्ब से जमा किये गये फॉर्मो पर विचार करना सम्भव नहीं होगा !
  7. ५- छात्रवृत्ति / फ़ीस प्रतिपूर्ति सम्बन्धित आवेदन - पत्र समस्त संलग्नकों सहित दो प्रतियो में जमा करना हैं ! आवेदन -पत्र की एक प्रति विवरणिका में लगी हुयी हैं ! दिव्तीय प्रति के लिए आवेदन -पत्र की फ़ोटो प्रति का प्रयोग करे !

संलग्नक

  1. १- जाति प्रमाण -पत्र (प्रमाणित छाया प्रति ) (सामान्य वर्ग को छोड़कर ) जो राजस्व विभाग उ ० प् ० की निर्धारित वेबसाइट में अपलोड हो !
  2. २- आय प्रमाण -पत्र ( मूल्य रूप में जो छ : माह से पुराना न हो !
  3. ३- बी ० ए ० एवं बी ० एस ० सी ० प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों हेतु हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट की अंकतालिकाय प्रतिया एवं हाईस्कूल प्रमाण पत्र कि छायाप्रति !
  4. ४- बी ० एस ० सी ० द्धितीय एवं तृतीये वर्ष के विद्यार्थियो के लिए पूर्ववर्ती कक्षा की अंकतालिकायो की छायाप्रति !
  5. ५- वर्तमान सत्र की फ़ीस रसीद की छायाप्रति !
  6. ६- किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक कानपूर देहात में खोले गये बचत खाता की पास बुक की छायाप्रति(छात्रवृत्ति / फ़ीस वापस के प्रकरण में )